Posts

Showing posts with the label agriculture

स्टार्ट-अप्स में निवेश के जरिए कृषि समृद्धि का संवर्धन

Image
मुंबई 14 अप्रैल ,  2022: जहाँ, पिछले दो वर्षों से कोविड जाहिर तौर पर हावी रहा है, लेकिन सरकार द्वारा जिन बड़े लक्ष्यों की रूपरेखा प्रस्तुत की गयी है उस ध्यान केंद्रित किये रखना महत्वपूर्ण है जैसे कि वित्त वर्ष 25 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का प्रेरणादायक लक्ष्य। ग्रामीण भारत और विशेष रूप से कृषि इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक महत्वपूर्ण वाहक होगा और दरअसल इस लक्ष्य से कहीं अधिक ही हासिल करने में सहायक होगा। सांख्यिकी मंत्रालय के अनुसार, सकल घरेलू उत्पाद में कृषि क्षेत्र का योगदान 2018 -19 के 17.6% से बढ़कर 2020 -21 में 20% से अधिक हो गया है। विज्ञान आधारित कृषि विज्ञान, मशीनीकरण और डिजिटलीकरण जैसी आधुनिक कृषि पद्धतियों को व्यापक रूप से अपनाने से इस क्षेत्र को मजबूती मिलेगी और यह अधिक लचीला बनेगा। वास्तव में, परिवर्तन की हवा बह रही है और 370 बिलियन डॉलर का यह क्षेत्र कई स्टार्ट - अप्स के उद्भव के साथ - साथ महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी और नियामक परिवर्तनों के दम पर अच्छी तरह से बदल सकता है। उच्च गति वाले इंटरनेट की उपलब्धता और परिपक्व होते डिजिटल कंटेंट के माध्यम से भारत के

सर छोटू राम की जयंती के उपलक्ष्य में 24 नवंबर को किसान-मजदूर संघर्ष दिवस मनाया जाएगा

26 नवंबर 2021 को भारत के लाखों किसानों के लगातार संघर्ष के 12 महीने पूरे होने पर देशभर में बड़े कार्यक्रमों की तैयारी जारी - 25 नवंबर को हैदराबाद में एक महाधरना होगा  ब्रिटेन, फ्रांस, ऑस्ट्रिया, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, नीदरलैंड और संयुक्त राज्य अमेरिका में कई स्थानों पर भारतीय किसान आंदोलन के समर्थन में प्रवासी भारतीयों के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय किसान संगठनों द्वारा एकजुटता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे एनबीडीएसए ने एक राष्ट्रीय टीवी चैनल को किसानों को खालिस्तानी के रूप में चित्रित करने पर नसीहत दी और आदेश दिया कि ऐसे वीडियो वेबसाइटों और अन्य चैनलों से हटा दिए जाएं 26 नवंबर 2021 को भारत के लाखों किसानों के लगातार संघर्ष के 12 महीने पूरे होने के रूप में देशभर में बड़े कार्यक्रमो की जोरदार तैयारी चल रही है। उस दिन हजारों किसानों के दिल्ली के आसपास के मोर्चा स्थलों पर पहुंचने की संभावना है। दिल्ली से दूर राज्यों की राजधानियों में ट्रैक्टर रैलियों के अलावा अन्य विरोध प्रदर्शनों का आयोजन किया जाएगा। यह दिन आंदोलन की आंशिक जीत के रुप में मनाया जाएगा और शेष मांगों पर कार्यक्रमों में जोर दिया जाएगा। क