अंबुजा सीमेंट्स ने मरवाड़ मूंडवा के शुष्क क्षेत्रों में पानी की समस्या को दूर करने के लिए किए व्यापक प्रयास, स्थायी पहलों से किसानों की आय में वृद्धि और आजीविका में सुधार - अध्ययन में हुआ खुलासा

राजस्थान, 09 जुलाई 2024- विविध कारोबार वाले अदाणी पोर्टफोलियो की सीमेंट और निर्माण सामग्री कंपनी अंबुजा सीमेंट्स ने राजस्थान के मारवाड़ मूंडवा में अपनी साइट के पास कृषक समुदायों के लिए पानी की उपलब्धता के परिदृश्य को पूरी तरह से बदल दिया है। यह बात क्षेत्र में जल संसाधन प्रबंधन (डब्ल्यूआरएम) पहलों के प्रति कंपनी के सीएसआर प्रयासों पर एक प्रभाव आकलन अध्ययन में सामने आई है। अंबुजा सीमेंट्स के सीएसआर प्रयासों के तहत उठाए गए कदमों में पारंपरिक जल संरचनाओं को पुनर्जीवित करना, छत पर वर्षा जल संचयन सिस्टम को लागू करना और सूक्ष्म सिंचाई तकनीकों को बढ़ावा देना शामिल है।
अंबुजा सीमेंट्स की सीएसआर शाखा ने मारवाड़ मूंडवा के शुष्क क्षेत्र में पानी की कमी की पुरानी समस्या को पहचाना और 2019 से इस दिशा में कदम उठाना शुरू किया। इसी प्रयास को आगे बढ़ाते हुए कंपनी उच्च प्रभाव वाली विभिन्न पहल लागू कर रही है। तारू लीडिंग एज प्राइवेट लिमिटेड के अध्ययन के अनुसार, क्षेत्र के 95 प्रतिशत से अधिक उत्तरदाताओं ने कहा है कि सीएसआर प्रयासों के बाद, उनका वित्तीय बोझ और साथ ही पीने के पानी की खरीद में लगने वाला समय काफी कम हो गया है।
सीएसआर टीमों द्वारा शुरू की गई छत पर वर्षा जल संचयन प्रणाली 9 से 11 महीनों के लिए सुरक्षित पेयजल तक नियमित पहुंच सुनिश्चित करती है, 80 फीसदी से अधिक लोगों को अब पानी की भीषण कमी का सामना नहीं करना पड़ता है। इसके अलावा, ड्रिप और स्प्रिंकलर सहित सूक्ष्म सिंचाई तकनीकों की शुरूआत के परिणामस्वरूप किसानों ने पानी के उपयोग में 70 फीसदी की कमी दर्ज की है, जिससे खेती की जमीन पर प्रति बीघा 700 रुपये तक की बचत हुई है।
बेहतर जल आपूर्ति परिदृश्य ने न केवल फसल उत्पादन को बढ़ावा दिया है, बल्कि किसानों को सिंचाई के तहत अपने क्षेत्र का विस्तार करने, अपनी फसलों में विविधता लाने, एक वर्ष में कई फसलें प्राप्त करने और अपने मौसम संबंधी परिवर्तन के समक्ष खुद को मजबूत करने के लिए भी प्रोत्साहित किया है। इसका अंततः एक महत्वपूर्ण सकारात्मक आर्थिक प्रभाव पड़ा है।
लगभग 94 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने सीएसआर प्रयासों की बदौलत खेती और अन्य स्रोतों से बेहतर आजीविका हासिल होने का उल्लेख किया। अध्ययन में कहा गया है कि इन अत्यधिक प्रभावी सीएसआर पहलों ने जल संबंधी एक संपूर्ण ईको सिस्टम को सकारात्मक रूप से प्रभावित किया है, जिससे स्थायी भूजल पुनर्भरण में योगदान मिला है। इस तरह अंबुजा सीमेंट्स ने आने वाली पीढ़ियों के लिए एक बेहतर भविष्य सुरक्षित करने के प्रति अपनी मजबूत प्रतिबद्धता दर्शाई है।

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

एंटेरो हेल्थकेयर सॉल्यूशंस लिमिटेड ने सेबी के समक्ष दाखिल किया ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी)

जयपुर की महिला सोशल मीडिया पर मचा रही है धूम