एशिया सोसाइटी इंडिया सेंटर बोर्ड ने संगीता जिंदल को नया अध्यक्ष नियुक्त किया

मुंबई, 02 अप्रैल 2024- एशिया सोसाइटी इंडिया सेंटर बोर्ड ने संगीता जिंदल को अपने निदेशक मंडल के नए अध्यक्ष के रूप में चुने जाने की घोषणा की है। उनकी नियुक्ति 1 अप्रैल, 2024 से प्रभावी हो गई है। एशिया सोसाइटी इंडिया सेंटर की सीईओ इनाक्षी सोबती ने कहा, ‘‘मुझे एशिया सोसाइटी इंडिया सेंटर बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में संगीता जिंदल का स्वागत करते हुए बहुत खुशी हो रही है। उन्होंने दक्षिण एशिया में हमारे मिशन को बहुत समर्थन दिया है और भारत और दक्षिण एशिया में समकालीन कला को सपोर्ट करने का उनका काम एक परिवर्तनकारी शक्ति रहा है। मैं दक्षिण एशिया में एशिया सोसाइटी के काम को मजबूत करने के लिए उनके साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।’’

संगीता जिंदल आर्ट इंडिया की प्रेसिडेंट और जेएसडब्ल्यू फाउंडेशन की चेयरपर्सन हैं। यह फाउंडेशन जेएसडब्ल्यू ग्रुप ऑफ कंपनीज की सामाजिक विकास परियोजनाओं के लिए जिम्मेदार है। पिछले बीस वर्षों में वह जेएसडब्ल्यू फाउंडेशन का नेतृत्व कर रही हैं, इसने शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका सृजन, स्थानीय खेल विकास और कला और सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण के क्षेत्रों में अपनी गतिविधियों का दायरा बढ़ाया है। उन्होंने 1992 में जिंदल आर्ट्स सेंटर की स्थापना की और 1994 में भारत की प्रमुख कला पत्रिका ‘आर्ट इंडिया’ की स्थापना की। वह काला घोड़ा कला महोत्सव की संकल्पना करने वाली टीम में शामिल थीं और उन्हें 2004 में आइजनहावर फैलोशिप से सम्मानित किया गया था।

उन्होंने हम्पी फाउंडेशन की स्थापना की है जिसने हम्पी में तीन मंदिरों में संरक्षण कार्य का जिम्मा उठाया। वह एशिया सोसाइटी की ग्लोबल ट्रस्टी और राष्ट्रीय संस्कृति कोष के निदेशक मंडल की सदस्य हैं। साथ ही, विश्व स्मारक कोष की ट्रस्टी, टेडएक्स गेटवे की एडवाइजर और आईएमसी लेडीज विंग कला, संस्कृति और फिल्म समिति की सदस्य भी हैं। 1956 में जॉन डी. रॉकफेलर तृतीय द्वारा स्थापित, एशिया सोसाइटी एक गैर-पक्षपाती, गैर-लाभकारी संस्था है जिसके प्रमुख केंद्र और सार्वजनिक भवन न्यूयॉर्क, ह्यूस्टन और हांगकांग में हैं, और कार्यालय लॉस एंजिल्स, मनीला, मेलबर्न, मुंबई, सैन फ्रांसिस्को, सिएटल, सियोल, सिडनी, टोक्यो, वाशिंगटन डी.सी. और ज्यूरिख में हैं।

इंडिया सेंटर की स्थापना 2006 में हुई थी; यह दक्षिण एशिया में एकमात्र एशिया सोसाइटी सेंटर है और इसका लक्ष्य आधुनिक एशिया पर विविध दृष्टिकोणों को एक साथ लाने और एशिया-प्रशांत मामलों की बेहतर और गहरी समझ विकसित करने के अपने मिशन में पूरे उपमहाद्वीप को शामिल करना है। एशिया सोसायटी इंडिया के बारे में अधिक जानने के लिए विजिट करें- asiasociety.org/india.

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

किराया माफ़ी अभियान की सफलता ने जन्म दिया अॉल किराएदार महासंघ को

एंटेरो हेल्थकेयर सॉल्यूशंस लिमिटेड ने सेबी के समक्ष दाखिल किया ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी)