उत्कर्ष : देश की डिजिटल शिक्षा जगत में क्रान्ति के प्रतीक उत्कर्ष एप के गौरवमयी चार वर्ष पूर्ण

जोधपुर,14 नवंबर. 2022 : उत्कर्ष क्लासेस एंड एजुटेक प्राइवेट लिमिटेड द्वारा चार वर्ष पहले लॉन्च किया गया डिजिटल शिक्षा का सशक्त माध्यम उत्कर्ष एप निरंतर सफलता की सीढ़ियाँ चढ़ते हुए रविवार, 13 नवंबर को अपनी चौथी वर्षगाँठ मना रहा है। चार वर्ष पहले ई-उत्कर्ष के नाम से देश भर के विद्यार्थियों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाने वाला यह डिजिटल एप वर्तमान में उत्कर्ष एप के नाम से करोड़ों विद्यार्थियों में अपनी एक खास पहचान बनाने में कामयाब हुआ है।

“उत्कर्ष एप के ये चार वर्ष समस्त विद्यार्थियों के विश्वास, प्रेम, स्नेह और लगन के चार स्तंभों को समर्पित” – डॉ. निर्मल गहलोत
उत्कर्ष क्लासेस के फाउंडर एंड सीईओ डॉ. निर्मल गहलोत ने इस महत्त्वपूर्ण अवसर को देश भर के विद्यार्थियों को समर्पित करते हुए कहा कि लॉन्चिंग के बाद से ही उत्कर्ष एप में नाममात्र शुल्क में उपलब्ध बेहतरीन ऑनलाइन कोर्सेस के प्रति विद्यार्थियों ने अपना भरपूर विश्वास व स्नेह दिखाया और दुगुने उत्साह एवं लगन से अपनी तैयारी करने में जुट गए। इसी का परिणाम है कि इन चार वर्षों में हजारों विद्यार्थियों ने उत्कर्ष एप से तैयारी कर सरकारी नौकरी पाने में सफलता प्राप्त की।
एक करोड़ से अधिक डाउनलोड के साथ ही कई बार ट्रेंडिंग में रहा उत्कर्ष एप
डॉ. गहलोत ने बताया कि एक ओर उत्कर्ष एप जहाँ एक करोड़ से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है वहीं इसने कई बार ट्रेंडिंग में रहने के साथ ही न. वन ट्रेंडिंग का मुकाम भी प्राप्त किया है।
उत्कर्ष एप से तैयारी करके कई विद्यार्थियों ने पूरे किए सपने; जताया अपना भरोसा
उत्कर्ष एप से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर देश के हजारों युवाओं ने अपने सरकारी नौकरी के सपनों को साकार किया है। ऐसे सभी विद्यार्थियों ने उत्कर्ष एप के लिए न केवल अपना भरोसा जताया बल्कि औरों को भी इस माध्यम से तैयारी करने को प्रेरित किया। इन्हीं विद्यार्थियों में से एक भवानी सिंह ने जूस बेचने का कार्य करते हुए उत्कर्ष एप से पीटीआई परीक्षा की ऑनलाइन तैयारी की तथा कई परीक्षाओं में असफलताओं के सिलसिले को तोड़ते हुए आखिरकार पीटीआई बनकर अपना सपना पूरा किया। भवानी सिंह ने ऑफ़लाइन तैयारी करने में असमर्थ विद्यार्थियों के लिए उत्कर्ष एप को एक वरदान बताया। इसी तरह आरजेएस – 2021 में 23 वर्षीय कार्तिका ने उत्कर्ष एप से ऑनलाइन तैयारी करते हुए अपने पहले ही प्रयास में ऑल राजस्थान 66वीं रैंक हासिल की और जज बनने के अपने व अपने पिता के सपने को साकार कर दिखाया जिसका श्रेय अपने परिवार के अलावा उन्होंने उत्कर्ष एप से की जाने वाली तैयारी को दिया।

ये फीचर्स बनाते हैं उत्कर्ष एप को विद्यार्थियों की पहली पसंद
विख्यात विषय विशेषज्ञों द्वारा अत्याधुनिक डिजिटल पैनल पर अध्यापन तथा लाइव कक्षाओं के अलावा उनकी रिकॉर्डिंग, ऑनलाइन कोर्सेस पर 1 वर्ष तक का अनलिमिटेड एक्सेस, टॉपिकवाइज़ क्विज़ व ऑल इंडिया टेस्ट सीरीज़, विशेषज्ञों द्वारा निर्मित ई-नोट्स, वेब लिंक्स व यू-ट्यूब वीडियो जोड़ने की सुविधा, फ्लैश कार्ड बनाना, वीडियो को ऑडियो के रूप में सुनने जैसे कई यूनीक फीचर्स इस एप को बहुत खास बनाते हैं। वर्तमान समय में उत्कर्ष एप में आईएएस, एसएससी, बैंक, रेलवे, केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) जैसे केन्द्रीय प्रतियोगी परीक्षाओं के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हरियाणा एवं बिहार के विभिन्न राज्य स्तरीय प्रतियोगी परीक्षाओं तथा नीट-जेईई, क्लेट, डिफेंस, नर्सिंग, कृषि, न्यायपालिका परीक्षा, इंजीनियरिंग के ऑनलाइन कोर्सेस के अलावा सीबीएसई एवं विभिन्न राज्य बोर्ड के तहत कक्षा 6 से 12 तक (हिंदी व अंग्रेजी माध्यम) के ऑनलाइन ट्यूशन कोर्सेस सहित 650 से अधिक ऑनलाइन कोर्सेस नाममात्र शुल्क में उपलब्ध हैं।

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

स्वाल कॉर्पोरेशन ने लॉन्च किया वूक्सल मैक्रोमिक्स - गेहूं की फसल पर हीट स्ट्रेस से निपटने के लिए पोषण संबंधी एक अभिनव समाधान

महिंद्रा और मैजेंटा ने बेंगलुरू में लास्टर माइल डिलिवरी के लिए संपूर्ण ईवी समाधान महिंद्रा ट्रेओ ज़ोर लॉन्ची किया