सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रों ने शानदार प्रदर्शन किया। इन छात्रों को इस दौरान अनेक चुनौतियों का सामना करना पड़ा था, जैसे कोविड के दौरान बार-बार लागू होने वाला लॉकडाउन, परीक्षा पैटर्न में बदलाव, ऑनलाइन कक्षाओं और हाइब्रिड लर्निंग का इस्तेमाल। इन चुनौतियों के कारण स्वाभाविक तौर पर लर्निंंग की राह में अनेक रुकावटें आईं। इसके बावजूद 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों से जुड़े विद्यार्थियों ने अपने प्रदर्शन से सबको चकित कर दिया।

अंबुजा विद्या निकेतन (एवीएन) ट्रस्ट द्वारा प्रबंधित पांच स्कूल हैं- एवीएन अंबुजानगर; अंबुजा पब्लिक स्कूल, राबरियावास; अंबुजा विद्यापीठ, रावन (भाटापारा); एवीएन उप्परवाही, (एमसीडब्ल्यू); और डीएवी-एवीएन, दारलाघाट।

कक्षा 10 में 396 छात्रों (204 लड़के और 192 लड़कियों) ने परीक्षा दी (पिछले वर्ष की तुलना में 20 अधिक), 76 छात्रों ने 90 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए; और 271 ने 60 फीसदी और 90 फीसदी के बीच स्कोर किया। दो छात्रों - देवांग महाजन (एपीएस राबरियावास) और ख़ुशी अग्रवाल (एवीपी रावन) - ने 98.67 फीसदी के बड़े स्कोर के साथ आगे बढ़कर नेतृत्व किया; इस बीच, एवीपी रावन - इस क्षेत्र में सबसे अधिक मांग वाले स्कूल - ने उच्चतम कक्षा औसत 81.5 फीसदी हासिल किया।

कक्षा 12 में परीक्षा में शामिल 343 छात्रों (206 लड़कों और 137 लड़कियों, पिछले वर्ष की तुलना में 90 अधिक) में से 168 छात्रों ने 75 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए। उन्होंने सभी विषयों में अच्छा प्रदर्शन किया - विज्ञान, वाणिज्य और मानविकी - जहां उच्चतम स्कोर पिछले साल की तुलना में बेहतर रहा। टॉपर्स रहे- आर्य सिंह (एवीएन उप्परवाही)- विज्ञान में 97 फीसदी, अमन दुलानी (एवीपी रावन) और अल्मा एलेक (एवीएन उप्परवाही)- वाणिज्य में 98 फीसदी; और शमिता रावल (एपीएस राबरियावास)- मानविकी में 97.6 फीसदी अंक।

इंडिया होल्सिम के सीईओ और अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्री नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘पिछले दो साल सामान्य रूप से किसी के लिए भी और विशेष रूप से छात्रों के लिए तो जरा भी आसान नहीं रहे हैं। सीखने के कई तरीके हैं लेकिन इस दौरान छात्रों को अपनी पढ़ाई को लेकर बड़ी कठिनाइयों से गुजरना पड़ा। मुझे इस बात पर बेहद गर्व है कि ऐसे विपरीत हालात में भी अंबुजा स्कूलों के छात्रों ने भारत में सबसे कठिन कक्षा 10 और 12 की सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में शानदार अंक हासिल किए और अपनी छाप छोड़ी है। मैं उनके शानदार करियर और खुशहाल जीवन की कामना करता हूं।’’

इस सफलता से उत्साहित एपीएस राबरियावास की प्रिंसिपल इप्सिता चौधरी ने कहा, ‘‘मैं अंबुजा स्कूल के समस्त प्राचार्यों की ओर से कह सकती हूं कि अनिश्चितताओं से भरे माहौल के बावजूद हमने छात्रों के लिए फोकस्ड ट्यूटोरियल के साथ-साथ प्रोफेशनल्स के साथ आमने-सामने के परामर्श सत्रों का आयोजन किया और इस तरह उन्हें हर कदम पर सपोर्ट देने का प्रयास किया गया। इन कदमों से ही यह सफलता हासिल की जा सकी है।’’

एवीपी रावन के प्रधानाचार्य संजय पांडेय ने कहा कि शिक्षकों का मनोबल बनाए रखना भी उतना ही जरूरी है। ‘‘उनके लिए अपनी बात कहने, अपनी ऊर्जा को चैनल करने और अन्य अंबुजा स्कूलों के अपने समकक्षों के साथ सहयोग करने के लिए विभिन्न प्लेटफॉर्म बनाए गए थे। इससे निश्चित रूप से उन्हें हमारे छात्रों को तनावपूर्ण दौर से उबारने में मदद मिली।’’

कुल मिलाकर, अंबुजा सीमेंट्स के प्रबंधन और एवीएन ट्रस्ट के निरंतर समर्थन और प्रोत्साहन के कारण, हर गुजरते साल के साथ पांच स्कूल मजबूती से आगे बढ़े हैं। आगामी शैक्षणिक वर्ष के लिए लर्निंग गैप को समझते हुए तमाम बाधाओं को दूर करने पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास किया जा रहा है।

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

उदयलाल आंजना का सहकारिता मंत्री प्रभार यथावत रखने पर सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने जताया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार

महिंद्रा और मैजेंटा ने बेंगलुरू में लास्टर माइल डिलिवरी के लिए संपूर्ण ईवी समाधान महिंद्रा ट्रेओ ज़ोर लॉन्ची किया