भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी ने अपने पहले दीक्षांत समारोह में 236 विधार्थियों को कौशल शिक्षा में डिग्रियां प्रदान की

जयपुर ,07 मई 2022 : भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी  (बीएसडीयू) ने आज अपना पहला दीक्षांत समारोह महिंद्रा वर्ल्ड सिटी जयपुर में अपने कैंपस  में  भव्य  तरीके से  एक उत्सव  के रूप में आयोजित किया । कार्यक्रम में बैचलर ऑफ़ वोकेशन (बी. वोक.)  के 221, मास्टर ऑफ़ वोकेशन (एम.वोक.) के 10 और 5 स्टूडेंट्स को पीएच. डी.  की डिग्रियों  से सुशोभित किया गया । इस प्रकार कुल 236  छात्र/छात्राओं को उनके  अलग अलग कौशल क्षेत्रों में   डिग्रियां प्रदान की गई। डॉ. राजेंद्र कुमार जोशी और श्रीमती उर्सुला जोशी के दूरदर्शी नेतृत्व में स्थापित भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी ने अपने स्थापना के बाद थोड़े समय में ही अपनी विशिष्ट  पहचान बना ली है।


कार्यक्रम के मुख्य अतिथि *अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई)  के चेयरमैन प्रोफेसर अनिल डी सहस्त्रबुद्धे* ने  यूनिवर्सिटी में अपनी पिछली यात्रा के दौरान डॉक्टर राजेंद्र कुमार जोशी और श्रीमती उर्सुला  जोशी के साथ हुई मुलाकात को याद किया और भारत में कौशल शिक्षा  के क्षेत्र में किए गए उनके प्रयासों व अभूतपूर्व योगदान  की दिल से सराहना की और आशा व्यक्त की कि   भारत के अन्य  विश्वविद्यालय भी अपने यहां भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी जैसी विश्व स्तरीय प्रशिक्षण की सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा  की कि  भविष्य में देश की अर्थव्यवस्था के विकास में  कौशल शिक्षा की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होगी और इसी के माध्यम से हमारी विश्व की सबसे अधिक युवा शक्ति को हम रोजगार से जोड़ने में सफल होंगें। उन्होंने  अपेक्षा कि सभी  स्किल्स को उचित महत्व दिया जाएगा और विद्यार्थियों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति  के अनुसार अपनी पसंद के विषय को चुनने की स्वतंत्रता होगी ।

आज के कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्रतिभाशाली और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले विधार्थियों को  "डॉक्टर राजेंद्र कुमार जोशी गोल्ड मेडल" और "राजेंद्र एंड उर्सुला जोशी चैरिटेबल ट्रस्ट (आर यू जे सी टी)"  गोल्ड मेडल भी प्रदान किए गए । डॉक्टर आर के जोशी गोल्ड मेडल  मधुसूदन राठौर, मोनिका सरोडिया, राजा आर्यन  कुमावत,पूजा जांगिड़, सुनील नागा को दिया गया वहीं आर यू जे सी टी गोल्ड मेडल लोकेश कुमार, चेतन शर्मा,भीम सिंह, हर्षित शर्मा, आयुष शर्मा, अश्वनी धनकर, अनुराग शेखावत,मनीषा शर्मा, रजनी गुप्ता व ईश्वर सिंह को दिया गया ।  

भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के प्रेजिडेंट  प्रोफेसर अचिन्त्या  चौधरी ने विश्व विद्यालय की गतिविधियों पर  रिपोर्ट प्रस्तुत की और  उपस्थित विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि इस विश्वविद्यालय  में आपने अपनी शिक्षा और प्रशिक्षण से जो योग्यता और आत्मविश्वास प्राप्त किया है वह निश्चित रूप से आपको अपने भविष्य की चुनौतियों का सामना करने में सक्षम और सशक्त बनाएगा चूँकि आपने  अपनी डिग्री के साथ साथ प्रत्येक सेमेस्टर के बाद इंडस्ट्री में ऑन द जॉब ट्रेनिंग व इंटर्नशिप भी प्राप्त की है इसलिए अपनी कुशलता द्वारा ओधोगिक विकास में नए आयाम स्थापित कर देश के विकास में अपना योगदान दें । आने वाले समय में आपके क्षेत्र में बदलाव होते रहेंगे और उन बदलावों और चुनौतियों पर खरा उतरने हेतु आपको आजीवन सीखते रहने की आवश्यकता होगी।  

भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी कौशल शिक्षा  के क्षेत्र में विश्वस्तरीय प्रशिक्षण सुविधाओं युक्त ऐसी यूनिवर्सिटी है जो कौशल शिक्षा और प्रशिक्षण  के लिए स्विस डुएल  सिस्टम पर आधारित शिक्षा प्रणाली उपलब्ध   करवा  रही  है । यूनिवर्सिटी में विश्व स्तरीय आधुनिक मशीनरी और उपकरणों के साथ  अग्रिम स्तर  की प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध है ।

कौशल  शिक्षा के साथ साथ, भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के विधार्थियों ने इंडिया स्किल कम्पीटिशन  में भी उत्कर्ष्ट प्रदर्शन किया है । इंडिया स्किल कम्पीटिशन 2021 में विश्वविद्यालय के 7 विद्यार्थियों ने स्वर्ण पदकों  के साथ-साथ मैडल ऑफ एक्सीलेंस भी जीते हैं । वहीं कुछ विद्यार्थी 2022 में  चीन के शंघाई शहर में आयोजित होने वाली  वर्ल्ड स्किल कम्पीटिशन -2022 में भी देश का प्रतिनिधित्व करने जा रहे हैं ।  इसके साथ एक सराहनीय व महत्वपूर्ण  तथ्य   यह है कि विश्वविद्यालय की एक छात्रा पूजा जांगिड़ को अक्षय ऊर्जा प्रौद्योगिकी में कुशल "महिला शक्ति" के रूप में भी चुना जा चुका है । इसके अलावा  ऐसे कई विद्यार्थी  कुशल होने के बाद  उद्योगों में होने से अन्य  लोगों का मार्ग भी प्रशस्त कर रहे हैं जहां कुशल  मानव संसाधन  की मांग है ।

आज के दीक्षांत समारोह में आर यू जे सी टी के मुख्य पदाधिकारी श्री जयंत जोशी, विश्वविद्यालय की  रजिस्ट्रार डॉ संगीता नॉवल, प्रबंधन मंडल एवं शैक्षणिक परिषद के सदस्य भी उपस्थित रहे ।

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

उदयलाल आंजना का सहकारिता मंत्री प्रभार यथावत रखने पर सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने जताया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार

पैरेंट्स अपने बच्चों को कैसे रख सकते हैं कोविड-19 से सुरक्षित