गोदरेज अप्लायंसेज ने राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और ग्लोबल वेस्ट सॉल्यूशन के साथ ई - कचरा संग्रह अभियान के जरिए ई - कचरा के लिए जागरूकता पैदा करने के लिए सहयोग किया

जयपुर, 28 मार्च, 2022: गोदरेज समूह की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और ग्लोबल वेस्ट सॉल्यूशन के सहयोग से हाल ही में राजस्थान में ई -कचरा संग्रह अभियान की घोषणा की। इस अभियान के जरिए 232 मीट्रिक टन (232,000 कि.ग्रा.) से अधिक ई-कचरा संग्रह किया गया। दो सप्ताह तक चलने वाले इस अभियान को राजस्थान के 6 जिलों - अजमेर, पाली, बीकानेर, झुंझुनू, चूरू और सीकर में 2 मार्च को शुरू किया गया।

अभियान के अंतर्गत, औद्योगिक इकाइयों, आवासीय क्षेत्रों, आरडब्ल्यूए, वाणिज्यिक बाजारों औरअनौपचारिक हॉट स्पॉट से ई - कचरा एकत्र किया गया, और अधिकृत रीसाइक्लिंगर्स और डिसमैंटलर्स को चैनलाइज्ड किया गया। छह शहरों से एकत्र 232 मीट्रिक टन (232,000 किलोग्राम) ई - कचरे में से 38.5 एमटी (38,500 किलोग्राम) ई - कचरे को आवासीय परिसरों से एकत्र किया गया था। इस कार्यक्रम के तहत 150 से अधिक आवासीय परिसरों को शामिल किया गया था, जहाँ रहने वाले लोगों को अधिक जागरूक किया गया।

वर्षों से, गोदरेज  अप्लायंसेज ने भारत बनाम ई - कचरा अभियान के बैनरतले विभिन्न शहरों को कवर करते हुए कई कार्यक्रम चलाए हैं, ताकि नागरिकों के बीच उचित ई - कचरा निस्तारण के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा की जा सके। पिछले वर्ष, गोदरेज अप्लायंसेज द्वारा कुल15,600 मीट्रिक टन (पंद्रह मिलियन किलोग्राम से अधिक) ई - कचरा एकत्र किया गया था और इस वर्ष 20,000 मीट्रिक टन (बीस मिलियन किलोग्राम) ई - कचरा एकत्र करने का लक्ष्य है।

ई - कचरा संग्रहण की सुविधा के लिए, ब्रांड ने 24X7 टोल - फ्री नंबर 1800 209 5511 उपलब्ध कराया है। उपभोक्ता टोल - फ्री नंबर पर कॉल करके आसानी से पिकअप शेड्यूल कर सकते हैं।

इस पहल के बारे में बताते हुए, गोदरेज एंड बॉयस की सहायक कंपनी, गोदरेज अप्लायंसेज के बिजनेस हेड और कार्यकारी उपाध्यक्ष कमल नंदी ने कहा, “गोदरेज में पर्यावरण पर प्रमुखता से ध्यान दिया जाता है, हम मूल्य श्रृंखला में उचित ई - अपशिष्ट रीसाइक्लिंग के प्रति संकल्पित हैं। इसने हमें इलेक्ट्रॉनिक्स और उपकरणों के सुरक्षित निपटान को सुनिश्चित करने के लिए राज्य शासी निकायों और अन्य संस्थानों के साथ साझेदारी करके भारत बनाम ई - कचरा अभियान को बढ़ाने के लिए प्रेरित किया है। टिकाऊपन पर जोर केवल ई - कचरा पहल और जागरूकता अभियानों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि हमारे पर्यावरण के अनुकूल उत्पादों और ग्रीन विनिर्माण प्रक्रियाओं में भी स्पष्ट है।"

इसके अलावा, राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव, आनंद मोहन ने कहा,“हम राजस्थान में ई - कचरा संग्रह अभियान में भाग लेने और ई - कचरे के पर्यावरणीय रूप से स्वस्थ तरीके से निस्तारण के लिए जनता के बीच जागरूकता पैदा करने हेतु गोदरेज अप्लायंसेज के आभारी हैं। इस ई - कचरा संग्रह अभियान को नागरिकों की अपार प्रतिक्रिया मिली और रीसाइक्लिंग एजेंसियों द्वारा उनके बीच एक करोड़ रुपये से अधिक का वितरण उनके ई - कचरे के लिए सर्वोत्तम मूल्य के रूप में किया गया है। मुझे विश्वास है कि यह समर्थन अगले चरणों के लिए भी जारी रहेगा।"

आगे, ग्लोबल वेस्ट सॉल्यूशन के निदेशक, मनीष अग्रवाल ने कहा, "ग्लोबल वेस्ट सॉल्यूशन, राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के विभिन्न क्षेत्रीय कार्यालयों और गोदरेज अप्लायंसेज द्वारा संयुक्त रूप से संचालित ई -कचरे के प्रबंधन के बारे में जागरूकता का अभियान सफल रहा है। सामान्य लोगों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया और इस उत्कृष्ट कार्य की सराहना की। इस तरह के अभियान समय की मांग हैं।"

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

उदयलाल आंजना का सहकारिता मंत्री प्रभार यथावत रखने पर सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने जताया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार

पैरेंट्स अपने बच्चों को कैसे रख सकते हैं कोविड-19 से सुरक्षित