यूपीवीसी, हाइब्रिड पॉलिमर और एलुमिनियम के दरवाज़े हैं आधुनिक दरवाज़े

घर में दरवाज़े बहुत अधिक मायने रखते हैं। ये घर के इंटीरयर को आकर्षक बनाने में तो योगदान देते ही हैं, साथ ही घर को सुरक्षित भी बनाते हैं। ऐसे मंे अगर आप अपने घर में रेनोवेशन कराने जा रहे हैं, तो सोच-समझ कर सही दरवाज़े चुनना बहुत महत्वपूर्ण है। दरवाज़े घर में कई तरह की भूमिकाएं निभाते हैं, आपके घर के गार्ड की तरह काम करते हैं। वे आपकी प्राइवेसी बनाए रखने से लेकर आपको सुरक्षा का अहसास देते हैं। ऐसे में दरवाज़ों का चुनाव सोच-समझ कर करना चाहिए।

पहले आमतौर पर दरवाज़े लकड़ी से बने होते थे। लेकिन आजकल लकड़ी के दरवाज़ों की जगह एलुमिनियम और आयरन ने ले ली है। हालांकि दरवाज़ों में एलुमिनियम का उपयोग सबसे ज़्यादा किया जा रहा है। साथ ही पिछले सालों के दौरान यूपीवीसी (अप्लास्टिकेटेड पॉली विनाइल क्लोराईड) के दरवाज़ों पर काफी अध्ययन हुए हैं और आज बड़े पैमाने पर लकड़ी के दरवाज़ों की जगह यूपीवीसी के दरवाज़ों ने ले ली है। यूपीवीसी एक सख्त मटीरियल है, जिसका उपयोग खिड़कियां और दरवाज़े बनाने के लिए किया जाता है। एलुमिनियम और यूपीवीसी के दरवाज़े लकड़ी के दरवाज़ों की तुलना में ज़्यादा टिकाऊ होते हैं। इन पर प्रदूषण, नमी, जंग, मोल्ड आदि का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। ये दरवाज़े प्री-फैब्रिकेटेड होते हैं तथा कई डिज़ाइनों और रंगों में आते हैं। इसी तरह आजकल घर के भीतरी दरवाज़े बनाने में हाइब्रिड पॉलिमर का उपयोग भी बहुत अधिक बढ़ गया है। ये दरवाज़े किसी भी स्पेस को स्टाइलिश और आकर्षक लुक देते हैं। इनमें लकड़ी जैसी खूबसूरती भी होती है और पॉलिमर का टिकाऊपन भी। ये दरवाज़े हर तरह के मौसम के लिए अनुकूल होते हैं। यूपीवीसी, हाइब्रिड पॉलिमर और एलुमिनियम के दरवाज़ों के इन्हीं फीचर्स के चलते आज ये दरवाज़े पारम्परिक दरवाज़ों की जगह ले चुके हैं।  

टिकाऊः घर के अन्य हिस्सों को टिकाऊ बनाने के लिए सीमेंट, स्टील एवं अन्य सामग्री का उपयोग किया जाता है, इसी तरह दरवाज़ों का टिकाऊ होना भी इनमें इस्तेमाल किए जाने वाली मटीरियल पर निर्भर करता है। यूपीवीसी और हाइब्रिड पॉलिमर के दरवाज़े किसी भी तरह के मौसम को झेल सकते हैं, ये अल्ट्रावॉयलेट किरणों से सुरक्षित रहते हैं। इनका रंग समय के साथ फीका नहीं पड़ता, चाहे इन पर लम्बे समय तक धूप पड़ती रहे। एलुमिनियम से बने आधुक दरवाज़ों में ऐसे रसायनों का उपयोग किया जाता है, जो हर तरह के मौसम की मार झेल जाते हैं और इनमें जंग भी नहीं लगता। 

रखरखाव में आसानः लकड़ी के दरवाज़ों की देखभाल बहुत ज़्यादा करनी पड़ती है, इनका रखरखाव आसान नहीं होता। हालांकि एलुमिनियम, हाइब्रिड पॉलिमर और यूपीवीसी के दरवाज़ों को ज़्यादा रखरखाव की ज़रूरत नहीं होती। हल्की सी सफाई और झाड़-पौंछ के साथ ये चमकते रहते हैं। 

दीमक से सुरक्षितः लकड़ी के दरवाज़ों पर दीमक आसानी से लग जाता है। लेकिन एलुमिनियम, हाइब्रिड पॉलिमर और यूपीवीसी के दरवाज़े दीमक से पूरी तरह सुरक्षित रहते हैं। ये लम्बे समय तक चलते हैं। 

मजबूत और सुरक्षितः घर के रेनोवेशन के दौरान हम हमेशा सबसे मजबूत सामग्री का उपयोग करना चाहते हैं। यूपीवीसी और एलुमिनियम के दरवाज़े लकड़ी के दरवाज़ों की तुलना में सुरक्षित होते हैं। इनके फ्रेम पर एक या कई लॉक होते हैं, ऐसे में ये बहुत अधिक सुरक्षा देते हैं। यूपीवीसी के दरवाज़ों को तोड़ना आसान नहीं होता, क्योंकि इन पर मोटी गैल्वेनाइज़्ड स्टील कवरिंग होती है।’’ 

देखने में आकर्षकः एलुमिनियम, हाइब्रिड पॉलिमर और यूपीवीसी के दरवाज़े कई रंगों और स्टाइल्स में आते हैं, ऐसे में ये किसी भी को आकर्षक बना सकते हैं। ये देखने में बहुत अच्छे लगते हैं। 

पर्यावरण के अनुकूलः लकड़ी के दरवाज़ों के बजाए, एलुमिनियम, हाइब्रिड पॉलिमर और यूपीवीसी के दरवाज़े रीसायकल किए जा सकते हैं। ये पर्यावरण के अनुकूल हैं और कई दशकों तक चलते हैं, इन्हें बहुत कम रखरखाव की ज़रूरत होती है। 

बेहतरीन इंसुलेशनः घर में इंसुलेशन भी बहुत अधिक मायने रखता है, लकड़ी के दरवाज़े आवाज़ तो ब्लॉक करते हैं, लेकिन ये परफेक्ट इंसुलेटर नहीं होते। यूपीवीसी, एलुमिनियम और हाइब्रिड पॉलिमर के दरवाज़े बेहतरीन इंसुलेशन देते हैं। ये बाहरी शोर को भीतर नहीं आने देते और घर के भीतरी वातावरण को बेहद आकर्षक बना देते हैं। इसके अलावा ये धूप, धूल, पराग, प्रदूषण से भी घर को सुरक्षित रखते हैं। आम धारणा के विपरीत एलुमिनियम के दरवाज़े और खिड़कियां बाहरी गर्मी को भी अंदर नहीं आने देते। 

ऐसे में यूपीवीसी, हाइब्रिड पॉलिमर और एलुमिनियम के दरवाज़े, लकड़ी के दरवाज़ों का अच्छा विकल्प हैं। इसलिए अगर आप अपने घर के दरवाज़े बदलने जा रहे हैं तो आराम से सोचें, क्योंकि इन दरवाज़ों के साथ ज़्यादा रखरखाव का झंझट नहीं रहेगा और आपका घर पूरी तरह से सुरक्षित भी रहेगा। 

आप डीसीएम श्रीराम लिमिटेड की ओर से भारत के सबसे बड़े डोर एवं विंडो ब्राण्ड फेनेस्टा के उच्च गुणवत्ता के दरवाज़े-खिड़कियां चुन सकते हैं। इनके पोर्टफोलियो में शानदार परफोर्मेन्स देने वाले प्रोडक्ट्स हैं, ये प्रोडक्ट जहां एक ओर आपके घर के इंटीरियर को बेहद आकर्षक बना देते हैं, वहीं दूसरी ओर घर को बाहरी शोर, हवा, धूल, प्रदूषण, बारिश आदि से भी सुरक्षित रखते हैं। भारत में मौसम की चरम परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए फेनेस्टा ने यूपीवीसी और सिस्टम एलुमिनियम के दरवाज़े-खिड़कियां तथा हाइब्रिड पॉलिमर के भीतरी दरवाज़े डिज़ाइन किए हैं, जो भारत के चरम जलवायु के लिए उपयुक्त हैं। फेनेस्टा अपने सभी उपभोक्ताओं के लिए आधुनिक कस्टमाइज़्ड समाधानों की सम्पूर्ण रेंज पेश करता है जिसमें सर्वे से लेकर डिज़ाइन, निर्माण, डिलीवरी, इन्स्टॉलेशन और सर्विस तक शामिल है।

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

उदयलाल आंजना का सहकारिता मंत्री प्रभार यथावत रखने पर सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने जताया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार

पैरेंट्स अपने बच्चों को कैसे रख सकते हैं कोविड-19 से सुरक्षित