इनवेस्ट राजस्थान समिट - 2022 में जेडीए की मंगलम बिल्डर्स से 10 हजार करोड के एमओयू

बैठक में हुई सहमति जयपुर के विकास को मिलेगी गति

आशा पटेल
जयपुर। जयपुर विकास आयुक्त गौरव गोयल द्वारा इन्वेस्ट राजस्थान समिट-2022 के अंतर्गत जयपुर में विकास की अपार संभावनाओं को देखते हुए घरेलू निवेशकों को आमंत्रित करते हुए बुधवार, 29 दिसम्बर, को मंथन सभागार में क्रेडाई (कन्फेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशंस ऑफ इंडिया) के सदस्यों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। जिससे जयपुर में औद्योगिक विकास, रोजगार पर्यटन के नए अवसरों को बढ़ावा मिलेगा। बैठक में मंगलम ग्रुप के चेयरमैन श्री एन.के. गुप्ता ने कहा कि इन्वेस्ट राजस्थान समिट-2022 के दौरान हमारे गु्रप द्वारा लगभग 10 हजार करोड रूपये का जविप्रा के साथ एमओयू किया जायेगा। जिसके अंतर्गत हमारे द्वारा मानसरोवर में एम्यूजमेंट पार्क (फन किंगडम) के द्वितीय फेज का कार्य प्रारम्भ किया जायेगा, मानसरोवर में शिप्रापथ स्थापित मंगलम मेडीसिटी हॉस्पिटल शुरू किया गया है जिसके 10 किमी परिधि में एक मेडीकल कॉलेज का निर्माण करवाया जायेगा। साथ ही जयपुर शहर में 3 इंडस्ट्रीयल सिटीज विकसित की जायेंगी, जिनमें लगभग 2 हजार इंडस्ट्रीज स्थापित होंगी। दो इंटीग्रेटेड टाउनशिप भी विकसित की जायेंगी, जिसमें लगभग 3 हजार प्लाट्स होंगे। इसके अलावा आईटी हब भी विकसित किया जायेगा, जहॉ कार्पोरेटस चेन्नई, बैंगलोर एवं हैदरबाद शहरों से सस्ते कार्पोरेट ऑफिस उपलब्ध करवाये जायेंगे। जिससे यहॉ रेजीडेंसियल डवलपमेंट को भी बढावा मिलेगा।
उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा जगतपुरा-टोंक रोड पर वर्किंग वुमन हास्टल बनाये जायेंगे, दिल्ली रोड पर 500 बीघा भूमि पर गोल्फ कोर्स का निर्माण करवाया जायेगा।एआरजी गु्रप के चेयरमैन श्री आत्माराम गुप्ता ने कहा कि इन्वेस्ट राजस्थान समिट-2022 के दौरान ग्राम महला में इण्डस्ट्रीयल टाउनशिप/वेयर हाउस स्कीम एवं रेजिडेंसियल टाउनशिप योजनाओं के जविप्रा के साथ एमओयू किये जायेंगे।बैठक में उपस्थित क्रेडाई (कन्फेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशंस ऑफ इंडिया) के अन्य सदस्यों (बिल्डर्स) द्वारा भी आवासीय एवं व्यावसायिक टाउनशिप विकसित करने हेतु एमओयू करने के लिए कहा गया। जयपुर विकास आयुक्त गौरव गोयल ने बताया कि राजस्थान अपार औद्योगिक संभावनाओं का राज्य है एवं जयपुर में भी अपार संभावनायें छिपी हुई है, जिसे ध्यान में रखते हुए जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा निरंतर कार्य किया जाता रहा है।जेडीसी ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा वर्ष 2021-22 के अनुसार राज्य में नए निवेशकों को आकर्षित करने के लिए इन्वेस्टर समिट का आयोजन किया जा रहा है। जिसके तहत जविप्रा द्वारा भी विभिन्न क्षेत्रों में निवेश बढाने के प्रयास किए जा रहे है। विभिन्न सदस्यों (बिल्डर्स) द्वारा सुझाव दिये गये कि टाउनशिप एवं फ्लैटेड योजनाओं में पानी-बिजली कनेक्शन, स्टाम्प ड्यूटी एवं अन्य समस्याओं में शिथिलताएं/रियायत दी जायें। जेडीसी ने कहा कि वर्टिकल डवलपमेंट को बढावा मिलना चाहिए, जिसके लिए जेडीए हरसंभव प्रयासरत है। बैठक में विभिन्न सदस्यों से प्राप्त सुझावों में से जिनका समाधान जेडीए स्तर पर हो सकता है, उनका निस्तारण जेडीए द्वारा किया जायेगा एवं जिनका निस्तारण राज्य सरकार के स्तर पर किया जाना है, उन सुझावों का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भिजवाये जायेंगे।जेडीसी ने कहा कि इन्वेस्ट राजस्थान समिट-2022 के दौरान क्रेडाई (कन्फेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशंस ऑफ इंडिया) के विभिन्न सदस्यों द्वारा किये गये निवेश से ना केवल जयपुर का विकास होगा बल्कि रोजगार के नए अवसर भी खुलेंगे।02 अक्टूबर 2021 से आमजन के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू किये गये प्रशासन शहरों के संग अभियान में जेडीए द्वारा जिस तरह अधिक से अधिक संख्या में एवं शीघ्रता से आमजन को पट्टे जारी किये जा रहे है, जिसकी क्रेडाई के उपस्थित विभिन्न सदस्यों द्वारा सराहना की गई। 

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

उदयलाल आंजना का सहकारिता मंत्री प्रभार यथावत रखने पर सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने जताया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार

पैरेंट्स अपने बच्चों को कैसे रख सकते हैं कोविड-19 से सुरक्षित