स्वच्छ छवि के अमित ओसवाल को ' स्वीकारा जनता ने '

 


-- कि. रेनवाल में 35 में से 18 सीटों पर कांग्रेस

-- 'द पब्लिक साइड' ने लिखा था कांग्रेस का बहुमत तो अमित ओसवाल बनेंगे बोर्ड अध्यक्ष

-- ऐसी घोषणा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष ने भी की थी

नवीन कुमावत               

किशनगढ़ रेनवाल। स्थानीय निकाय चुनाव के परिणामों के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि रेनवाल की जनता ने स्थानीय नगर कांग्रेस की कमान संभाल रहे युवा अमित ओसवाल को बोर्ड अध्यक्ष के रूप में स्वीकार किया है। जनता का जनादेश इसी ओर इशारा कर रहा है। अब कांग्रेस को जनता के जनादेश को शिरोधार्य करना चाहिए। गौरतलब है कि स्थानीय निकाय चुनाव से पहले ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रामगोपाल गिला ने भी पत्रकारों से बातचीत में कांग्रेस की कमान संभाल रहे युवा अमित ओसवाल को लेकर स्पष्ट तौर पर यह घोषणा कर दी थी कि बहुमत पाने पर अमित ओसवाल ही कांग्रेस का चेहरा होंगे। अब देरी इसे अमलीजामा पहनाने की ही है। किशनगढ़ रेनवाल में 35 वार्डों में से कांग्रेस को 18 सीटों के साथ स्पष्ट रूप से बहुमत मिला है। बीजेपी 10 सीटों पर ही सीमित हो गई है, तो वहीं सात निर्दलीयों ने बाजी मारी है। सबसे रोचक मुकाबला वार्ड नंबर 21, 24 और 14 का माना जा रहा था। जहां वार्ड नंबर 21 में कांग्रेस अध्यक्ष अमित ओसवाल कांग्रेस उम्मीदवार के रुप में भाजपा के डॉक्टर नवाब अली को 288 वोटों से पछाड़कर एकतरफा जीत हासिल की है। वहीं वार्ड नंबर 14 में पूर्व पालिका उपाध्यक्ष सीताराम बासनिवाल ने निर्दलीय गजानंद कुमावत को मात्र 29 मतों से परास्त किया। उधर वार्ड नंबर 24 में भाजपा के बागी और निर्दलीय के रूप में मुकेश गोयल पूर्व पालिका उपाध्यक्ष ने 310 वोट हासिल कर भाजपा के सांवरमल मेहरा को 117 वोटों से शिकस्त दी। यहां पर निर्दलीय पीयूष खटनावलिया और बनवारी वर्मा दोनों ही एक-एक वोट हासिल कर सिमट गए। चुनाव परिणाम के मुताबिक वार्ड नंबर 1 से कांग्रेस के गणपत लाल ने 203 वोट हासिल कर भाजपा के पेमाराम सेपट को 95 वोटों से शिकस्त दी। वार्ड नंबर 2 से भाजपा के सांवरमल कुमावत ने 221 वोट हासिल कर गणेश कुमावत निर्दलीय को 7 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 3 में अंजू देवी कुमावत भाजपा ने 349 वोट हासिल कर 159 वोटों से जीत हासिल की। वार्ड नंबर 4 में कांग्रेसी बागी निर्दलीय उम्मीदवार कजोड़ मल उज्जवल ने 226 वोट हासिल कर कांग्रेस के राजेश कुमार रेगर को 68 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 5 में इसाक मोहम्मद तेली कांग्रेस ने 123 वोट हासिल कर निर्दलीय रमेश चौधरी को 17 वोटों से हराया, वहीं भाजपा के सलाउद्दीन खान फौजी यहां चौथे स्थान पर रहे। वार्ड नंबर छह में संतोष देवी कांग्रेस ने 327 वोट हासिल कर निर्दलीय भगवान गोठवाल को 208 मतों से हराया। वार्ड नंबर 7 में निर्दलीय महेंद्र वर्मा ने 162 मत हासिल कर निर्दलीय बनवारी शर्मा को 62 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 8 में कांग्रेस के धर्मेंद्र चौधरी ने 204 वोट हासिल कर निर्दलीय चोखाराम डॉडवाडिया को 99 मतों से पराजित किया। वार्ड नंबर 9 में कांग्रेस की शकीला बानो ने 281 वोट हासिल कर 135 वोटों से राजकुमारी पारीक को हराया। वार्ड नंबर 10 में कांग्रेस के छीतर मल परेवा ने  214 वोट लेकर भाजपा के महेश कुलदीप को 70 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 11 में पुखराज परेवा कांग्रेस ने 153 वोट हासिल कर भाजपा के सुनील सांखला को 35 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 12 से योगेंद्र सिंह शेखावत कांग्रेस ने 415 वोट लेकर निर्दलीय रामप्रसाद शर्मा को 273 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 13 से कांग्रेस के गोपाल दायमा ने 290 वोट लेकर 157 मतों से जीत हासिल की। वार्ड नंबर 14 से भाजपा के सीताराम कुमावत ने 328 वोट लेकर निर्दलीय गजानंद कुमावत को 29 वोटों से मात दी। वार्ड नंबर 15 से मुकेश कुमावत भाजपा ने 366 वोट हासिल कर निर्दलीय मोहनलाल कुमावत को 259 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 16 में निर्दलीय राजीव तिवारी ने 229 वोट हासिल कर भाजपा के संजय तोतला को 97 वोटों से हराया। यहां कांग्रेसी उम्मीदवार मात्र 2 वोट ही हासिल कर पाया। तो वहीं पुराने भाजपाई और अब निर्दलीय के रूप में लड़े कालूराम सिरोडिया मात्र 22 वोट ही हासिल कर सके। वार्ड नंबर 17 में भाजपा के नितिन शर्मा ने 277 वोट लेकर कांग्रेस के दिग्गज महेश कुमार को 32 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 18 से कांग्रेश के शंकर सोनी ने 174 वोट लेकर निर्दलीय अजय कुमार को 2 वोटों से हराया। यहां भाजपा उम्मीदवार पीयूष बिड़सर तीसरे स्थान पर रहे। वार्ड नंबर 19 से कांग्रेस के मोहम्मद शाहिद ने 239 वोट लेकर निर्दलीय नौशाद को 81 वोटों से हराया। यहां भाजपा तीसरे स्थान पर 11 वोट ही हासिल कर पाई। वार्ड नंबर 20 से भाजपा की चंपा देवी नहीं 291 वोट लेकर 79 वोटों से जीत हासिल की। वार्ड नंबर 21 से कांग्रेस के अमित कुमार ओसवाल ने 406 वोट लेकर भाजपा के डॉक्टर नवाब अली को 288 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 22 से कांग्रेस की सुमन बांगड़वा ने 170 वोट लेकर भाजपा की पिंकी कवर को 5 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 23 से कांग्रेस की सायदा बानो ने 454 वोट लेकर निर्दलीय तरन्नुम वालों को 325 वोटों से हराया।  वार्ड नंबर 24 से निर्दलीय मुकेश गोयल ने 310 वोट हासिल कर भाजपा के सांवरमल मेहरा को 117 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 25 में निर्दलीय भागचंद सेन ने 276 वोट हासिल कर भाजपा के शिवशंकर सोनी को 136 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 26 में कांग्रेस की ममता देवी रेगर ने 493 वोट हासिल कर निर्दलीय के रूप में लड़ रही गायत्री खटनावलिया को 210 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 27 से कांग्रेश की कंचन देवी रेगर ने 191 वोट हासिल कर 51 वोटों से जीत हासिल की। वार्ड नंबर 28 से भाजपा की कंचन देवी कुमावत ने 419 वोट लेकर निर्दलीय पार्वती देवी को 183 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 29 में भाजपा की कौशल्या देवी पूर्व में ही निर्विरोध निर्वाचित हो चुकी थी। वार्ड नंबर 30 में भाजपा के सीताराम कुमावत ने 321 वोट लेकर निर्दलीय भंवरलाल कुमावत को 17 वोटों से हराया। वार्ड नंबर 31 में भाजपा की कविता कुमावत ने 559 रिकॉर्ड वोट लेकर निर्दलीय सावित्री को रिकॉर्ड 396 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 32 से कजोड़ मल निर्दलीय ने 315 वोट लेकर भाजपा के भोमराज यादव को 65 वोटों से शिकस्त दी। वार्ड नंबर 33 से कांग्रेस के महेंद्र सुल्तानिया ने 187 वोट लेकर 14 वोटों से जीत हासिल की। वार्ड नंबर 34 में कांग्रेस की संतोष बाजिया ने 199 वोट लेकर भाजपा की माया कंवर को 90 वोटों से पराजित किया। वार्ड नंबर 35 से निर्दलीय उम्मीदवार श्रवण धायल ने 209 वोट लेकर कांग्रेस के भागीरथ सेपट को 67 वोटों से शिकस्त दी।

सबसे ज्यादा और कम अंतर :

नगर निकाय चुनाव में सबसे अधिक मतों से जीत का रिकार्ड वार्ड नंबर 31 में भाजपा की कविता कुमावत के नाम रहा। उन्होंने 396 वोटों से निर्दलीय सावित्री को पराजित किया। वही दूसरे नंबर पर सबसे अधिक जीत का अंतर वार्ड नंबर 21 में कांग्रेश के अमित कुमार ओसवाल के नाम रहा। ओसवाल ने 288 मतों के अंतर से भाजपा के उम्मीदवार डॉ नवाब अली को शिकस्त दी। वही सबसे कम मतों से जीत के रूप में वार्ड नंबर 18 में कांग्रेस के शंकर सोनी के नाम रहा। सोनी ने निर्दलीय अजय कुमार को मात्र 2 वोटों से शिकस्त दी। कम अंतर में दूसरे नंबर पर वार्ड नंबर 22 है कांग्रेस की सुमन बांगडवा ने भाजपा की पिंकी कंवर पर 5 मतों से जीत हासिल की।

Popular posts from this blog

पीएनबी मेटलाइफ सेंचुरी प्लान - आजीवन आय और पीढ़ियों के लिए सुरक्षा

उदयलाल आंजना का सहकारिता मंत्री प्रभार यथावत रखने पर सहकार नेता सूरज भान सिंह आमेरा ने जताया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार

पैरेंट्स अपने बच्चों को कैसे रख सकते हैं कोविड-19 से सुरक्षित